10+ मजेदार प्रेरणादायक हिंदी कहानियां जो आपके सोचने की क्षमता को बदल सकती हैं

moral-kahaniya-in-hindi
Image sources: freepik.com

आपने कभी सोचा है कि कुछ कहानियां ऐसी भी होती हैं जो आपके जीवन को बदल सकती हैं? जबकि, कुछ कहानियां आपको ऐसी प्रेरणा देती हैं कि आप अपने सपनों को पूरा करने के लिए हर मुश्किल का सामना करने को तैयार हो जाते हैं। इस लेख में लिखे हिंदी प्रेरणादायक कहानियां आपको ऐसी शिक्षा देंगी जिससे आप अपने आप को बेहतर बनाने के लिए हर दिन कुछ नया सीखते रहेंगे। इसमें, कुछ कहानियां ऐसी हैं जो आपको अपने आसपास की दुनिया को अच्छे से समझने में मदद करेगी।

इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपके साथ 10+ ऐसी ही मजेदार कहानियां शेयर करने जा रहे हैं जो आपके सोचने की क्षमता को बदल सकती हैं। इसके साथ-साथ आपको अच्छी अच्छी प्रेरणादायक हिंदी कहानियां जो आपके बच्चे के जीवन के विभिन्न पहलुओं के बारे में बताएंगी जैसे कि सकारात्मक सोच, लक्ष्य, संघर्ष, सफलता, असफलता, प्रेरणा, शिक्षा, ज्ञान, अनुभव, आत्मविश्वास, आदि। ये कहानियां आपका न केवल मनोरंजन करेंगी बल्कि आपको जीवन का सही मतलब और मकसद भी बताएंगी। इसके अलावा, ये कहानियां आपको अपने जीवन को बेहतर बनाने के लिए प्रेरित करेंगी।

1. छोटी चिड़िया और एक बूंद पानी की कहानी:

bird-and-rain-drop
Image sources: freepik.com

एक बार की बात हैं, एक चिड़िया जो बहुत प्यासी थी, वह आकाश में उड़ते-उड़ते उसे एक तालाब दिखाई दिया। चिड़िया ने सोचा चलो यही पानी पी लेती हूँ। जब चिड़िया तालाब के किनारे पानी पी रही थी तभी, तालाब में पानी की एक बूंद गिरी। पानी की बूंद को देख चिड़िया जोर-जोर से हंसने लगी और बोली। बहन तेरे एक बूंद से तालाब के पानी का स्तर नहीं बढ़ेगा।

फिर, पानी की बूंद बोली देख बहन हर छोटी कोशिश महत्वपूर्ण होती है। आपने वो कहावत तो जरूर सुनी होगी बूंद-बूंद से घड़ा भरता हैं। हमारी छोटी-छोटी कोशिशे हमें बड़ा बनाती हैं। जबकि हर शुरुआत शून्य से होती हैं। यह बात को सुन चिड़िया को उसकी बातें समझ में आ गयी और चिड़िया ने कहा मुझे ऐसा नहीं बोलना चाहिये था। बहन मुझे माफ कर दो, और चिड़िया को बहुत पछतावा हुआ।

कहानी से सीख🧠: हमें कभी भी हार नहीं माननी चाहिए। हमें अपनी क्षमता पर विश्वास रखना चाहिए और ध्यान रहे, हम अपनी छोटी-छोटी कोशिशों से ही जीवन में बड़ा बदलाव ला सकते हैं।

2. लाचार पत्थर और पानी की कहानी:

story-of-small-rocks-and-water
Image sources: freepik.com

बहुत समय पहले की बात हैं, एक नदी में एक पत्थर रहता था, पत्थर पानी के लहरों से लगातार टकराता रहता था। जिसके कारण पत्थर को बहुत गुस्सा आता और वह दुखी होता था। लेकिन, पत्थर लाचार था, करें भी तो क्या करें धीरे-धीरे, समय बीतता गया वह पानी से लगातार टकराता रहा। कुछ समय बाद वह पानी से टकराने के कारण चिकना और सुंदर बन गया। जिसे किसी अच्छे व्यक्ति ने अपने साथ ले गया उसको मंदिर में रख दिया, और लोग उसकी पूजा करने लगे।

कहानी से सीख🧠: हमें मुश्किलों को चुनौती के रूप में स्वीकार करना चाहिए। मुश्किलें हमें मजबूत बनाती हैं।

3. गरीब लड़का और आइसक्रीम की कहानी:

poor-boy-in-restaurant-with-icecreem
Image sources: freepik.com

एक छोटा सा लड़का एक होटल में गया और वहां के वेटर से आइसक्रीम के दाम पूछता है। वेटर उसे दो फ्लेवर के दाम बताता है, लेकिन लड़का सिर्फ सस्ता वाला फ्लेवर मांगता है। वेटर सोचता है कि लड़का कंजूस है और उसके पास ज्यादा पैसे नहीं हैं।

लेकिन जब लड़का आइसक्रीम खाकर चला जाता है, तो वेटर देखता है कि लड़का उसके लिए 15 रुपए का टिप भी छोड़ गया है। वेटर को पता चलता है कि लड़का उसके लिए टिप देने के लिए अपनी पसंद की आइसक्रीम नहीं खाई है। वेटर को अपनी गलती का एहसास होता है और वह लड़के के उस उदारता और सम्मान के लिए शर्मिंदा होता है।

कहानी से सीख🧠: यह कहानी आपको बताती है कि कभी किसी के बारे में धारणा बनाने से पहले उसकी सच्चाई जाननी चाहिए।

4. बूढ़ा व्यक्ति और छोटी बच्ची की कहानी:

old-man-with-child-story
Image sources: freepik.com

इस कहानी में एक छोटी सी लड़की अपने पिता के साथ एक ट्रेन में सफर कर रही थी। ट्रेन में एक बूढ़ा व्यक्ति भी बैठा था, जो लड़की को बार-बार देखता और फिर दूसरी तरह मुह करके रो रहा था। लड़की के पिता को उसकी नज़रें पसंद नहीं आ रही थी, और वह उसे घूरने का इल्ज़ाम लगता है।

बूढ़ा आदमी उसे समझाने की कोशिश करता है कि वह उसकी बेटी को देखकर उसे अपने पोती की याद आ रही हैं। जोकि, ठीक उसी लड़की की तरह दिखती थी जो कुछ साल पहले मर गई थी, जिसे वह बहुत प्यार करता था। यह कहते हुए बूढ़ा आदमी रोने लगा।

बूढ़े आदमी की बात सुनकर बहुत लड़की के पिता को बहुत शर्म आती है और वह उससे माफी मांगता है। बूढ़ा आदमी उसे माफ कर देता है। लड़की को उसकी बात सुनकर बहुत अच्छा लगता है और वह उसे अपना दादा बना लेती है।

कहानी से सीख🧠: आपको किसी के बारे में बिना जाने समझे उससे बहस नहीं करनी चाहिए।

5. बंदर की कायरता और बहादुरी की कहानी:

story-of-monkey-lion-and-elephant
Image sources: freepik.com

एक छोटा सा बंदर अपने माता-पिता के साथ एक जंगल में रहता है। वह बहुत खुश और उल्लासित रहता और अपने दोस्तों के साथ खेलता रहता था। लेकिन एक दिन उसे एक शेर मिलता है जो उसे डराता है और उसे कहता है कि वह एक निकम्मा और बेकार बंदर है। शेर के इस ताने का असर बंदर पर पड़ता है और वह अपने आप को कमजोर और नाकाबिल समझने लगता है। वह फिर अपने दोस्तों से दूर हो चला जाता है और अकेले में रोता रहता है।

एक दिन उसे एक बुद्धिमान और दयालु हाथी मिलती है जो उसे अपने साथ ले जाती है। हाथी उसे अपने आप पर विश्वास रखने की सलाह देती है और उसे अपनी खूबियों का एहसास कराती है। बंदर को यह सुनकर बहुत खुशी होती है और वह फिर से अपने पुराने जोश और जुनून के साथ जीने लगता है।

कहानी से सीख🧠: यह कहानी आपको बताती है कि आपको अपने आप पर विश्वास रखना चाहिए और दूसरों की बातों का असर नहीं होने देना चाहिए।

इन्हें भी देखें: 9 शिक्षाप्रद कहानियां जो छोटे बच्चों को बड़ों की तरह सोचना सिखाएंगी

6. कछुआ और खरगोश की कहानी:

story-of-tortoise-and-rabbit
Image sources: freepik.com

इस कहानी में एक खरगोश है जो अपनी तेज़ दौड़ने के लिए बहुत घमंडी था। वह अक्सर अन्य जानवरों को अपनी दौड़ में हराता है और उनका मजाक उड़ाता है। एक दिन वह एक कछुए से दौड़ने का शर्त लगाता है और उसे अपना आसान शिकार समझता है।

वह दौड़ शुरू करता है और बहुत आगे निकल जाता है। वह कछुए को देखकर उसकी हालत पर हँसता है और उसे बेवकूफ़ बताता है। वह इतना आत्मविश्वासी हो जाता है कि वह बीच में ही रुक जाता है और एक पेड़ के नीचे सो जाता है। वह सोचता है कि वह बाद में उठकर दौड़ को पूरा कर लेगा और कछुए को हरा देगा।

लेकिन उसे नहीं पता होता है कि कछुआ उसके पीछे धीरे-धीरे लेकिन लगातार आ रहा है। कछुआ उसे सोते हुए देखता है और उसे छोड़कर आगे बढ़ जाता है। वह अपनी दृढ़ता और निरंतरता के बल पर दौड़ को पूरा कर लेता है और खरगोश को हरा देता है।

खरगोश को अपनी गलती का एहसास होता है और वह अपने घमंड और आलस्य के लिए शर्मिंदा होता है। वह कछुए को बधाई देता है और उससे माफी मांगता है। वह अपने गलतियों से सीखता है और उन्हें दोहराने से बचने का वादा करता है।

कहानी से सीख🧠: आपको अपने गलतियों से सीखना चाहिए और उन्हें दोहराने से बचना चाहिए।

7. बहादुर चिड़िया और उसके बच्चों की कहानी:

sanke-and-bird-nest
Image sources: freepik.com

एक चिड़िया जो एक घोंसले में अपने बच्चों के साथ रहती थी। वह अपने बच्चों को खाना लाने के लिए रोजाना उड़ती थी। लेकिन, उसके घोंसले के पास एक बुरा और लालची सांप भी रहता था जो उसके बच्चों को खाना चाहता था। एक दिन जब चिड़िया अपने बच्चों को खाना लेके लौटती है, तो वह देखती है कि सांप उसके घोंसले में घुस गया है और उसके बच्चों को मारने की कोशिश कर रहा है।

चिड़िया बहुत डर जाती है और उसे लगता है कि उसके बच्चों का कोई भविष्य नहीं है। लेकिन तभी वह एक आग का गोला देखती है जो उसके घोंसले की ओर आ रहा था। वह जानती है कि वह आग का गोला उसके घोंसले और उसके बच्चों को भी जला देगा।

वह तुरंत उस आग के गोले को अपने पंखों से ढकने की कोशिश करती है और उसे बुझाने की कोशिश करती है। वह अपनी जान की परवाह नहीं करती है और अपने बच्चों को बचाने के लिए हर संभव प्रयास करती है। उसकी इस कार्य को देखकर सांप को बहुत आश्चर्य होता है और वह उसकी हिम्मत और प्यार के प्रति प्रभावित होता है।

वह अपनी गलती का एहसास करता है और उसे चिड़िया के प्रति करुणा की भावना आ जाती है। वह उसके घोंसले से निकल जाता है और चिड़िया से माफी मांगता है। चिड़िया को भी उसके प्रति दया आती है और वह उसे माफ कर देती है। वह उसे अपना दोस्त बना लेती है।

कहानी से सीख🧠: आपको अपने दुश्मनों को भी प्यार करना चाहिए और उनके प्रति करुणा और अनुकंपा दिखाना चाहिए।

8. चतुर लोमड़ी और मूर्ख कौवा की कहानी:

fox-and -crow-story-kahaniya-in-hindi
Image sources: freepik.com

एक बार, एक लोमड़ी ने एक कौवे को रोटी का टुकड़ा खाते हुए देखा। कौवे को रोटी लिए देख लालच के कारण लोमड़ी के मुँह में पानी आ गया। लोमड़ी ने कौवे की तारीफ की और बोला “तुम्हारी आवाज बहुत सुंदर है दोस्त क्या तुम मुझे गाना सकते हो?” कौआ लोमड़ी की बातों में आ गया और जैसे गाना गाने के लिए मुँह खोला रोटी का टुकड़ा नीचे जा गिरा लोमड़ी ने तुरंत रोटी को उठा ली और भाग गई।

कहानी से सीख🧠: हमें चापलूसी से बचना चाहिए, किसी को गुमराह नहीं करना चाहिए।

9. शिल्पकार और पत्थर की कहानी:

The story of the craftsman and the stone-kahaniya-in-hindi
Image sources: freepik.com

कुछ समय पहले की बात हैं एक शिल्पकार बहुत दूर पहाड़ी से दो पत्थर ले आया जिसे वह मूर्ति बनाना चाहता था। काफी दिन बाद शिल्पकार अपनी छेनी और हथौड़ी लेकर पत्थर को मूर्ति का रूप देने चला। उन दोनों पत्थर में से एक पत्थर पर पहली हथौड़ी मारी तो वह पत्थर जोर-जोर से रोने और चिल्लाने लगा। और बोलने लगा मुझे मत तोड़ो मुझे दर्द हो रहा हैं।

पत्थर की बातें सुन शिल्पकार दूसरा पत्थर लाया और उसको अपनी छेनी और हथौड़ी से मूर्ति का रूप दे दिया। एक दिन उसके पास कुछ लोग मूर्ति लेने आए और वह मूर्ति अपने साथ ले जाने लगे उन्हें वही पड़े दूसरे पत्थर को भी साथ ले गये दोनों पत्थर मंदिर मे रखा गया। लेकिन, एक की पूजा होती उसके ऊपर जल चढ़ता और दूसरे के ऊपर नारियल तोड़ जाता जिससे दूसरे पत्थर को सारी उम्र कष्ट होता रहा।

कहानी से सीख🧠: अगर हम अपनी जिंदगी के शुरुआती दिनों में थोड़ा कष्ट उठा लेंगे तो हमे पूरी जिंदगी में कष्ट नहीं उठान पड़ेगा।

10. गधा और आदमी की कहानी:

donkey-and-man-kahaniya-in-hindi
Image sources: freepik.com

एक आदमी अपने साथ गधे पर घास का गट्ठर लेकर जा रहा था, तभी रास्ते में उसे एक बाबाजी मिले बोले आप कितना क्रूर और निर्दयी व्यक्ति हो आपको इस जानवर के ऊपर घास का गट्ठर नहीं डालना चाहिये। उस आदमी ने बाबाजी की बात मान ली और घास के गट्ठर को अपने सिर पर रख लिए और गधा को साथ में लेकर चल दिया।

आगे उसे एक औरत मिली उसने बोला आप कितने मूर्ख इंसान हो जो गधा साथ में होने पर भी घास का गट्ठर सिर पर लेके चल रहे हो। तुम्हें गधे के ऊपर घास के गट्ठर को रख के जाना चाहिये। वह आदमी असमंजस में पड़ गया अब क्या करें?

कहानी से सीख🧠: हमें दूसरों की बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए हमें अपनी सोच और समझ के साथ काम करना चाहिए। अच्छा करो या बुरा लोग तो कहते रहेंगे।

और देखें: बच्चे के बोलने के विकास को बढ़ावा देने के लिए 11 आसान तरीके

11. शरारती मेंढक और चींटी की कहानी:

the-story-of-the-ant-and-the-frog-kahaniya-in-hindi
Image sources: freepik.com

कुछ समय पहले की बात हैं एक चींटी और तितली के बीच बहुत गहरी दोस्ती थी। दोनों साथ साथ खेलते थे एक बार तितली ने चींटी को बोल वह देखो नदी के बीच में टापू पे बहुत अच्छे-अच्छे जानवर और फूल पत्ते लगे हैं। लेकिन तुम वहाँ जा नहीं सकती कैसे देखोगी। इस बात पर चींटी को जिद्द आ गई और वह उस पार जाने के लिए सोचने लगी।

फिर तितली बोली तुम मेरे ऊपर बैठ जाओ मै तुम्हें नदी के बीच टापू पे ले चलती हूँ। इसप्रकार, दोनों नदी के बीच टापू पर पहुच गये जहाँ पर एक लालची मेंढक रहता था वह तितली को पकड़ कर खा गया। अब चींटी टापू के उस पार कैसे जाये सोचकर रोने लगी।

लालची मेढक ने बोला चलो मै तुम्हें उस पर छोड़ आता हूँ। जब मेढक के पीठ पर बैठ के चींटी बीच नदी में आ गयी तब मेंढक को शरारत सूझी और बोलने लगा मुझसे अब और नहीं चला जाता तुम बहुत भारी हो तुम अब यही उतार जाओ। फिर चींटी रोने लगी उसे एक पत्ते ने दूसरे किनारे के पार लगाया।

कहानी से सीख🧠: आपको कभी किसी के साथ धोखा नहीं करना चाहिए बल्कि उसको दिया वादा किसी भी हाल में पुरा करना चाहिये।

हिंदी प्रेरणादायक कहानियां में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs):

निष्कर्ष (Conclusion):

हम आपको बहुत ही अर्थपूर्ण और नैतिक सीख वाली कहानियां हिन्दी में इस लेख में दिये हैं। जिसके माध्यम से आपका बच्चा अपना दिमाक लगाना चाहेगा। इसके साथ-साथ उसके अंदर इस कहानी में आगे क्या होने वाला हैं उसके बारे में जानने की इच्छा व्यक्त होगी। हमने आपको कहानी बहुत ही तार्किक ढंग से समझाने की कोशिश की हैं। जिसके कारण आप अपने बच्चे बहुत ही विचारशील और ज्ञानवान बना सकते हैं।

Content Review Details

Last Reviewed: 22 February 2024

Next Review: 22 February 2025

Our team has reviewed this content. This is updated information to date. See more about our editorial policy.

Leave a Reply