छोटे बच्चों के विकास के लिए जरूरी पोषण आहार

बच्चों-के-लिए-पोषण
Image sources: freepik.com

छोटे बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास उनके आहार पर निर्भर करता है। इसलिए 2 साल की उम्र तक बच्चे को लगभग 1000 किलो कैलोरी/दिन भोजन करना चाहिए। [2] बच्चे के लिए संतुलित, पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन की आवश्यकता होती है। लेकिन, कौन से खाद्य पदार्थ बच्चों के लिए सबसे अच्छे हैं? इस प्रश्न का जवाब जानने के लिए, हमने कुछ महत्वपूर्ण सूचनाओं को संकलित किया है, जो आपको अपने बच्चों का पोषण सुनिश्चित करने में मदद करेंगी।

स्तनपान: (Stanpan)

breastfeeding
Image sources: freepik.com

स्तनपान (Breastfeeding) बच्चों के लिए सर्वोत्तम पोषण आहार माना जाता है। क्योंकि, माँ के दूध मे सभी आवश्यक पोषक तत्व पाये जाते है, जैसे प्रोटीन, मिनरल, विटामिन, प्री-बायोटिक, प्रो-बायोटिक, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-माइक्रोबियल आदि जो बच्चों की प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) को मजबूत बनाता है, और संक्रमणों से बचाता है।[1][3]

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डबल्यूएचओ) के अनुसार बच्चे को 6 महीने तक सिर्फ माँ का दूध ही पिलाना चाहिए। तथा 6 महीने के बाद ठोस आहार के साथ-साथ 2 साल तक स्तनपान कराते रहना चाहिए। स्तनपान से माँ और बच्चे को स्वास्थ्य संबधित अनगिनत लाभ मिलते है, जैसे गर्भाशय कैंसर, मधुमेह, हृदय रोग, अस्थि मज्जा आदि बीमारियों से बचने से मदद मिलती है तथा बच्चे और माँ के बीच एक अटूट प्रेम बढ़ता है।[1][4]

बच्चों के लिए जरूरी खाद्य पदार्थ:

खाद्य-पदार्थ
Image sources: freepik.com

बच्चों का पोषण उनके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इस उम्र में, बच्चों को वृद्धि और विकास के लिए पोषक तत्वों की अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है। छोटे बच्चों के पोषण के लिए सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में शामिल हैं :

फल और सब्जियां
साबूत अनाज
डेयरी उत्पाद
स्वस्थ वसा
प्रोटीन

1. फल और सब्जियां:

फल-और-सब्जियां
Image sources: freepik.com

हरी सब्जियां विटामिन ए, सी, के और आयरन का एक अच्छा स्रोत हैं। ये विटामिन प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने, संक्रमण से लड़ने और कोशिकाओं के विकास और मरम्मत में मदद करते हैं। जबकि,फल मे कैल्शियम, पोटेशियम, विटामिन, खनिज और फाइबर का प्रचुर मात्रा मे पाया जाता है।

पालक: पालक मे विटामिन ए, सी, के तथा आयरन और कैल्शियम पाया जाता है। यह हड्डियों, दांतों और प्रतिरक्षा प्रणाली के विकास के लिए आवश्यक है।
ब्रोकोली: ब्रोकोली विटामिन सी, के, और तथा फाइबर का एक अच्छा स्रोत है। यह रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने और पाचन तंत्र को ठीक रखने में मदद करता है।
गाजर: गाजर को विटामिन ए का पावर हाउस कहा जाता है, जो कि आंखों के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। गाजर को कच्चा, उबला हुआ तथा इसकी रेसपी बना कर दिया जा सकता है।
कद्दू: कद्दू मे विटामिन ए के साथ-साथ फाइबर और विटामिन सी भी पाया जाता है। जोकि बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी होता है।
केला: केले मे पोटेशियम भरपूर मात्र मे पाया जाता है, जो मांसपेशियों और तंत्रिकाओं के कार्य के लिए आवश्यक है। केला फाइबर और विटामिन बी का भी एक अच्छा स्रोत हैं।
संतरा: संतरे में विटामिन सी अधिक मात्रा मे पाया जाता है। जो बच्चे को स्कर्वी रोग, दांत, नाखून, आदि के रोगों से बचाता है। इसमे फाइबर भी सम्पूर्ण मात्रा मे पाया जाता है।
सेब: सेब फाइबर का एक अच्छा स्रोत हैं, जो पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करता है। सेब मे विटामिन सी और पोटेशियम के गुण पाये जाते है।

जरूरी सलाह:

1-3 वर्ष की आयु के बच्चे: 2 कप हरी सब्जियां और 2 कप फल प्रति दिन
4-8 वर्ष की आयु के बच्चे: 2 कप हरी सब्जियां और 2 कप फल प्रति दिन
9-13 वर्ष की आयु के बच्चे: 3 कप हरी सब्जियां और 2 कप फल प्रति दिन

साबूत अनाज :

पौष्टिक-अनाज
Image sources: freepik.com

अनाज बच्चों के लिए एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है। यह कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर और विटामिन और खनिजों का एक अच्छा स्रोत हैं। अनाज बच्चों को ऊर्जा प्रदान करते हैं, उन्हें पूरे दिन चुस्त रखते हैं और उनके विकास में मदद करते हैं। इसलिए, अपने बच्चे के आहार में विभिन्न प्रकार के साबूत अनाज को शामिल करें, जैसे कि गेहूं, जौ, ओट्स, ब्राउन राइस और क्विनोआ।

साबूत अनाज: साबूत अनाज सभी भागों को शामिल करते हैं, जिसमें बीज, चोकर और जर्म शामिल हैं। साबूत अनाज अधिक पौष्टिक होते हैं क्योंकि वे फाइबर, विटामिन और खनिजों का एक स्रोत होते हैं।
ब्राउन राइस: ब्राउन राइस सफेद चावल का एक अच्छा विकल्प है क्योंकि इसमें अधिक फाइबर और पोषक तत्व होते हैं। ब्राउन राइस को सूप, दलिया और अन्य व्यंजनों में शामिल किया जा सकता है।
ओट्स: ओट्स बच्चे के लिए एक बहुत लाभदायक अनाज है, जिसमे फाइबर, प्रोटीन और कई महत्वपूर्ण विटामिन पाये जाते है। ओट्स को अक्सर दलिया के रूप में खाया जाता है, लेकिन इसे स्नैक के रूप में भी खाया जा सकता है या अन्य व्यंजनों में शामिल किया जा सकता है।
क्विनोआ: क्विनोआ एक पौधा-आधारित प्रोटीन है जिसमे फाइबर, विटामिन और खनिज पाया जाता है। क्विनोआ को अक्सर सलाद, सूप और अन्य व्यंजनों में शामिल किया जाता है।

जरूरी सलाह:

अपने बच्चे को विभिन्न प्रकार के अनाज खाने के लिए प्रोत्साहित करें।
साबूत अनाज को प्राथमिकता दें।
अपने बच्चे के भोजन में आनाज को शामिल करें।

दूध और दूध से बने उत्पाद:

बच्चों-के-लिए-पोषण-दूध-और-दूध-से-बने-उत्पाद
Image sources: freepik.com

दूध से बने उत्पादों मे बच्चे के लिए भरपूर पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत होता हैं। जिसमे प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस, विटामिन डी और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व पाये जाते है। दूध और दूध से बने उत्पाद बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए अति आवश्यक हैं।

दूध: दूध संपूर्ण प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत है, दूध मे सभी नौ आवश्यक अमीनो एसिडजो पाये जाते है जो कि शरीर के निर्माण और मरम्मत के लिए आवश्यक होते हैं। दूध को कैल्शियम और विटामिन डी का पावर हाउस माना जाता है, जो हड्डियों और दांतों को मजबूत करने मे मदद करता है।
दही: दही एक प्रोबायोटिक खाद्य पदार्थ है, जिसमे अच्छे बैक्टीरिया पाये जाते है, जो पाचन स्वास्थ्य को अच्छा रखते है।
पनीर: पनीर प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन का एक अच्छा स्रोत है। इस खाद्य पदार्थ से बच्चों के लिए अच्छा-अच्छा स्नैक या नाश्ता तैयार किया जा सकता है।
मक्खन: मक्खन स्वस्थ वसा और कैलोरी का एक अच्छा स्रोत है। मक्खन को सैंडविच, नाश्ते के खाद्य पदार्थों और अन्य व्यंजनों में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे बच्चों के आहार में सीमित मात्रा में शामिल किया जाना चाहिए।

जरूरी सलाह:

1-3 वर्ष की आयु के बच्चे: 1 कप दूध या दूध से बना उत्पाद प्रति दिन
4-8 वर्ष की आयु के बच्चे: 2 कप दूध या दूध से बना उत्पाद प्रति दिन
9-13 वर्ष की आयु के बच्चे: 3 कप दूध या दूध से बना उत्पाद प्रति दिन

लीन प्रोटीन:

बच्चों-के-लिए-पोषण-स्वस्थ-लीन-प्रोटीन
Image sources: freepik.com

हल्का प्रोटीन मांस, मछली, अंडे और डेयरी उत्पादों में पाया जाता है। ये खाद्य पदार्थ प्रोटीन से भरपूर होते हैं, जो शरीर के निर्माण और मरम्मत के लिए आवश्यक है। प्रोटीन कोशिकाओं, ऊतकों और मांसपेशियों के निर्माण के लिए आवश्यक है। इसलिए, अपने बच्चे के आहार में विभिन्न प्रकार के लीन प्रोटीन शामिल करें।

सैल्मन: सैल्मन ओमेगा-3 फैटी एसिड का एक अच्छा स्रोत है, जो मस्तिष्क के विकास और स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं।
अंडे: अंडा प्रोटीन और विटामिन डी का अच्छा स्रोत हैं। उन्हें उबला हुआ, तला हुआ या आमलेट के रूप में खाया जा सकता है।
टोफू: टोफू एक प्रोटीन का अच्छा स्रोत है, जो शाकाहारी लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है। इसे कई तरह से पकाया जा सकता है, जैसे तला हुआ, ग्रिल करके ।

स्वस्थ वसा:

बच्चों-के-लिए-पोषण-स्वस्थ-वसा
Image sources: freepik.com

स्वस्थ वसा ओमेगा-3 फैटी एसिड, विटामिन और खनिज का एक अच्छा स्रोत हैं। ये पोषक तत्व मस्तिष्क के विकास और कार्य के लिए आवश्यक हैं। इसलिए, अपने बच्चे के आहार में स्वस्थ वसा शामिल करें, जैसे कि नट, बीज, एवोकाडो और जैतून का तेल।

बीन्स: बीन्स प्रोटीन, फाइबर और आयरन का एक अच्छा स्रोत हैं। इन सभी फलियों का उपयोग अपने बच्चे के आहार मे कर सकते है।
दालें: दालें प्रोटीन, फाइबर और आयरन का भी एक अच्छा स्रोत हैं। दालों के कुछ उदाहरणों में शामिल हैं: मूंग दाल, उड़द दाल, छोले, अरहर दाल, राजमा आदि।
नट्स और बीज: नट्स और बीज प्रोटीन, स्वस्थ वसा, फाइबर और विटामिन का एक अच्छा स्रोत हैं। वे बच्चों के लिए एक अच्छा स्नैक विकल्प भी हैं। नट्स और बीज के कुछ विकल्प बादाम, अखरोट, मूंगफली, तिल आदि है।

डिस्क्लेमर : अगर आपको अपने बच्चे के आहार के बारे में कोई चिंता है, तो अपने डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ से बात करें। वे आपको आपके बच्चे के लिए एक स्वस्थ आहार बनाने में मदद कर सकते हैं जो उनकी व्यक्तिगत जरूरतों को पूरा करता है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफएक्यू)

 निष्कर्ष (Conclusion)

बच्चों के सही विकास और स्वास्थ्य के लिए संतुलित पोषण की आवश्यकता होती है। उपरोक्त खाद्य पदार्थ न केवल उन्हें ऊर्जा प्रदान करते हैं बल्कि उनके शारीरिक और मानसिक विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। हर माता-पिता को चाहिए कि वह अपने बच्चों को ये सभी पौष्टिक खाद्य पदार्थ प्रदान करें ताकि वे स्वस्थ व सक्रिय रहे और जीवन में प्रगति कर सकें। अच्छा पोषण, अच्छे भविष्य की नींव है।

Sources of content

1. American Academy of Pediatrics (https://www.aap.org/en/patient-care/healthy-active-living-for-families/toddler-food-and-feeding/)

2. What’s In Breast Milk? (https://americanpregnancy.org/healthy-pregnancy/first-year-of-life/whats-in-breastmilk/)

3. जनपोषण तथा स्‍वास्‍थ् (https://ncert.nic.in/textbook/pdf/lehh103.pdf)

4. Feeding your baby: 6–12 months, (https://www.unicef.org/parenting/food-nutrition/feeding-your-baby-6-12-months)

5. Infant and young child feeding (https://www.who.int/news-room/fact-sheets/detail/infant-and-young-child-feeding)

6. बच्चों के लिए सबसे अच्छे खाद्य पदार्थ (https://www.tarladalal.com/recipes-for-healthy-kids-in-hindi-language-342)

7. Fortified foods, Med Alert Help

Content Review Details

Last Reviewed: 01 May 2024

Next Review: 01 May 2025

Our team has reviewed this content. This is updated information to date. See more about our editorial policy.

Leave a Reply