10

शिशु किस उम्र से  रंग देख सकते हैं?

0-2 महीने की उम्र तक

जन्म के समय, शिशुओं की रंग दृष्टि बहुत सीमित होती है। वे केवल काले, सफेद और कुछ चमकीले रंगों को ही देख सकते हैं। इस अवधि के दौरान, शिशुओं की दृष्टि तेजी से विकसित होती है और वे अधिक रंगों को देखना शुरू करते हैं।

1

2 से 3 महीने की उम्र तक

वे लाल रंग को अलग से पहचानना शुरू करते हैं, जो सबसे पहले दिखाई देने वाला विशिष्ट रंग है।

3-4 महीने की उम्र तक

अब शिशु अधिक रंगों को देख सकते हैं, जैसे नीला और पीला। वे अलग-अलग रंगों के बीच आसानी से अंतर भी कर सकते हैं।

3

4-6 महीने की उम्र तक

इस उम्र तक, शिशुओं की रंग दृष्टि में और सुधार होता है। वे अब लाल, हरे, नीले और पीले रंगों को देख सकते हैं। वे रंगों के बीच अंतर करना भी सीखना शुरू करते हैं।

4

6-9 महीने की उम्र तक

इस उम्र तक, शिशुओं की रंग दृष्टि लगभग वयस्कों की तरह ही हो जाती है। वे अब रंगों के पूरे स्पेक्ट्रम को देख सकते हैं और रंगों के बीच सूक्ष्म अंतर को भी पहचान सकते हैं।

5

9-12 महीने की उम्र तक

इस उम्र तक, शिशुओं की रंग दृष्टि पूरी तरह से विकसित हो जाती है। वे अब रंगों के बारे में समझ विकसित करना शुरू करते हैं, जैसे कि रंगों का उपयोग वस्तुओं और कार्यों को पहचानने के लिए।

6

शिशुओं की रंग दृष्टि के विकास को प्रभावित करने वाले कुछ कारक

1. आनुवंशिकी 2. पर्यावरण 3. न्यूरोलॉजिकल परिपक्वता

शिशुओं की रंग दृष्टि के विकास को बढ़ावा

1. शिशुओं को रंगीन वस्तुओं और खेलों के संपर्क में लाएं। 2. शिशुओं को रंगों के बारे में बात करें। 3. शिशुओं को रंगों की पहचान करने वाले खेल खेलने में मदद करें।

डॉक्टर से बात करें

यदि आपको लगता है कि आपके बच्चे को रंग दृष्टि संबंधी समस्याएं हो सकती हैं, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर बच्चे की रंग दृष्टि का परीक्षण कर सकते हैं और यदि आवश्यक हो तो उपचार की सिफारिश कर सकते हैं।